Connect with us

festival

दुर्गा प्रतिमाएं सड़कों पर नहीं, पार्कों और अन्य सुरक्षित स्थानों पर स्थापित की जानी चाहिए: योगी आदित्यनाथ

Published

on

Durga pooja

Page Media: – मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नवरात्रों से पहले रविवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रदेश के सभी जिलों में कानून व्यवस्था की समीक्षा बैठक की। सभी जिलों के प्रशासन और पुलिस अधिकारियों को उत्सव के शांतिपूर्ण संचालन के लिए सभी समुदायों के साथ संवाद स्थापित करने का निर्देश दिया।

बच्चों और वरिष्ठ नागरिकों की सुरक्षा

उन्होंने कहा की अक्सर त्योहारों पर खरीदारी के लिए बाजारों में भीड़ होगी, इसलिए पुलिस पैदल गश्त बढ़ाएं। सार्वजनिक स्थानों पर महिलाओं, बच्चों और वरिष्ठ नागरिकों की सुरक्षा के लिए अतिरिक्त सतर्कता बरतें। जिलों में नियंत्रण कक्ष को विभिन्न स्तरों पर सक्रिय करें। राज्य स्तर पर नियंत्रण कक्ष की निगरानी एडीजी (कानून व्यवस्था) की ओर से की जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रशासन को सभी स्थानों पर सुरक्षा कड़ी करनी होगी। खासकर उन स्थानों पर जहां रामलीलाओं का आयोजन होता है।

दुर्गा प्रतिमाएं सार्वजनिक पार्कों और अन्य सुरक्षित स्थानों पर

दुर्गा प्रतिमा स्थापना को लेकर और यातायात को भी ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री ने निर्देश देते हुए कहा की दुर्गा प्रतिमाएं सड़कों पर नहीं, बल्कि सार्वजनिक पार्कों और अन्य सुरक्षित स्थानों पर स्थापित की जानी चाहिए, ताकि यातायात बाधित न हो। साथ ही उन्होंने यह भी कहा की शराब और गाय तस्करों के खिलाफ भी कार्रवाई करने को कहा है। उन्होंने कहा कि खनन माफिया के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई करें। उनकी संपत्तियों को जब्त कर आगामी 10 दिनों में रिपोर्ट शासन को पेश करें।

44,000 से ज्यादा स्थानों पर दुर्गा मूर्तियां होंगी स्थापित

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राज्य में करीब 44,000 से ज्यादा स्थानों पर दुर्गा मूर्तियां स्थापित होंगी और अधिकारियों को पूजा समितियों से उनकी स्थापना से पहले संवाद करना होगा। उन्होंने कहा कि दशहरे के साथ ही वाल्मीकि जयंती, बारावफात, दीपावली और छठ अगले कुछ सप्ताह में मनाए जाएंगे, जिनको लेकर प्रशासन 24 घंटे सतर्क रहे।

Continue Reading

ENVIRONMENT

सामाजिक संस्थाओं के प्रतिनिधियो के साथ गीता जयंती महोत्सव के सफल आयोजन के लिए की चर्चा

Published

on

Grand district level Geeta Jayanti festival will be held from 02 to 04 December

Page Media: – उपायुक्त विक्रम सिंह ने शुक्रवार को लघु सचिवालय के बैठक कक्ष में समाजिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों के साथ जिला स्तरीय गीता जयंती महोत्सव 02 से 04 दिसंबर तक (Geeta Jayanti Festival from 02 to 04 December) धूमधाम से मनाने के लिए मंत्रणा कर सुझाव साँझे किए।

जिम्मेदारियां जबाबदेही के साथ तय

प्रतिनिधियों की जिम्मेदारियां जबाबदेही के साथ तय की गई। डीसी विक्रम ने बताया कि तीन दिवसीय गीता जयंती महोत्सव सेक्टर-12 स्थित कन्वेंशन सेंटर में आयोजित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा राज्य स्तरीय गीता जयंती महोत्सव (Gita Jayanti Festival) कुरुक्षेत्र में आयोजित किया जा रहा है। इसके साथ ही प्रत्येक जिला में भी जिला स्तरीय तीन दिवसीय गीता जयंती महोत्सव आयोजित किए जा रहे हैं।

विश्व में सबसे बड़े धार्मिक ग्रंथ गीता का संदेश

डीसी ने कहा कि विश्व में सबसे बड़े धार्मिक ग्रंथ गीता का संदेश हरियाणा की मिट्टी से ही निकला है। ऐसे में जिला का प्रत्येक व्यक्ति अपने जीवन में गीता के संदेश को धारण करे और नई पीढ़ी तक हम इन विचारों को पहुंचाने का कार्य करें। उन्होंने कहा कि तीन दिन के इस महोत्सव के दौरान विभाग, सामाजिक व धार्मिक संगठन अपनी-अपनी प्रदर्शनी बेहतरीन प्रदर्शन के लिए भागीदारी जरूरी है।

गीता जयंती महोत्सव का 02 दिसम्बर को

उन्होंने कहा कि गीता जयंती महोत्सव का 02 दिसम्बर को सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ तीन दिवसीय गीता जयंती महोत्सव का भव्य शुभारंभ होगा। गीता जयंती महोत्सव पर प्रदेश में 48 कोस तीर्थ क्षेत्र में आने वाले 164 तीर्थ स्थानों पर सांस्कृतिक कार्यक्रम व दीपोत्सव का आयोजन किया।

गीता जयंती महोत्सव में 2000 बच्चे एक साथ गीता के श्लोकों का उच्चारण करेंगे। शाम को मन्दिरों में दीपोत्सव के साथ महा आरती की जाएगी। लोक कलाकारों, कालेज और स्कूली बच्चों द्वारा गीता जयंती महोत्सव में अपनी-अपनी बेहतर रंगारंग सास्कृतिक प्रस्तुतियां दी जाएगी।

प्रभातफेरी और दोपहर को शोभा यात्रा

उपायुक्त ने बताया कि दूसरे दिन श्रीमद्भागवद्गीता पर सेमिनार का आयोजन किया जाएगा। इस दौरान वक्ता गीता पर अपने-अपने विचार रखेंगे। उन्होंने बताया कि तीसरे दिन उद्योगिक नगरी में प्रभातफेरी और दोपहर को शोभा यात्रा निकाली जाएगी।

बैठक एडीसी अपराजिता, एसडीएम बल्लबगढ त्रिलोक चंद, सीटीएम अमित मान, एसीपी महेन्द्र वर्मा, आरके विज गीता मंदिर सेक्टर 15, डीपी जैन श्री लक्ष्मी नारायण मंदिर, बलवान शर्मा हनुमान मंदिर सेक्टर 16, यतिन अहूजा ब्रह्मकुमारी नीलम बाटा रोड, शकुन रघुवंशी सिद्धदाता आश्रम, यशवी गोयल शुभ समय वेदिका, विमल खंडेलवाल जय सेवा फाउंडेशन, विवेक राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, दिनेश बरेजा दधिचि देहदन समिति, जयदीप कत्याल श्री हरि मंदिर सभा, संदीप कौर सनातन संस्था, कालिदास गर्ग विश्व हिंदू परिषद जिला सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी राकेश गौतम, रैडक्रास के सचिव बिजेन्द्र सरोत सहित अन्य सम्बंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

Continue Reading

faridabad

जिला में 2 दिसम्बर से 4 दिसम्बर तक मनाया जाएगा अन्तर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव: डॉ. अमित अग्रवाल

Published

on

International Gita Mahotsav will be celebrated in the district from December 2 to December 4: Dr. Amit Agarwal

Page Media: – मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव एवं सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग के महानिदेशक डॉ. अमित अग्रवाल ने राज्य के सभी जिला उपायुक्त के साथ विडियो कांफ्रेसिंग के जरिए बैठक की अध्यक्षता की जिसमें उन्होंने सभी जिलों को गीता महोत्सव (Gita Mahotsav) के बेहतरीन एवं शानदार आयोजन के लिए के दिशा-निर्देश दिए।

मनोहर लाल की इच्छानुसार

मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव डॉ. अमित अग्रवाल ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल की इच्छानुसार इस महोत्सव को आमजन का महोत्सव बनाने का प्रयास करें। ज्यादा से ज्यादा धार्मिक एवं सामाजिक संस्थानों को इस आयोजन से जोडें। अधिक से अधिक जनभागीदारी इस अन्तर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव में सुनिश्चित करें। जिससे आमजन के बीच गीता जी की मूल्यों व संदेश का प्रचार-प्रसार हो।

सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार

आपको बता दें प्रदेश के सभी जिलों में सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार 2 से 4 दिसंबर तक जिला स्तरीय गीता जयंती महोत्सव मनाया जाएगा। गीता जयंती महोत्सव पर प्रदेश में 48 कोस तीर्थ क्षेत्र में आने वाले 164 तीर्थ स्थानों पर सांस्कृतिक कार्यक्रम व दीपोत्सव का आयोजन किया। कुरुक्षेत्र में 18000 बच्चे एक साथ गीता के श्लोकों का उच्चारण करेंगे।

सभी से जनसहयोग की अपील

उपायुक्त विक्रम सिंह ने बैठक में बताया कि गीता जयंती महोत्सव में सभी से जनसहयोग की अपील भी की जा रही है। जिला भर में गीता जयंती महोत्सव जनसहभागिता के सिद्धांत पर आयोजित किया जाएगा। गीता जयंती महोत्सव पर जिला में प्रदर्शनी, नगर शोभा यात्रा, सांस्कृतिक कार्यक्रम, गीता श्लोक उच्चारण, गीता हवन एवं पाठ का आयोजन भी होगा।

इसके लिए जिला प्रशासन और पुलिस विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों की ड्युटियां जबाब देही के साथ सुनिश्चित की जाएगी। विडियों कान्फ्रेंस में जिला सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी राकेश गौतम सहित शिक्षा विभाग व अन्य सम्बंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

Continue Reading

ENVIRONMENT

पराली से प्रदूषण के मामले में कृषि मंत्री ने दिल्ली के मुख्यमंत्री को दिया दो टूक जवाब

Published

on

Agriculture Minister gave a blunt answer to the Chief Minister of Delhi in the matter of pollution from stubble

Page Media: – कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री जेपी दलाल ने दिल्ली एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण के मामले में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा दिए गए बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि उनकी प्रवृत्ति हरियाणा पर दोषपूर्ण बयानबाजी करने की है। जबकि सच्चाई तो यह है कि हरियाणा में पराली जलाने की घटनाओं को कम करने के लिए राज्य सरकार ने अथक प्रयास किए हैं और प्रदेश सरकार का लक्ष्य प्रदेश में जीरो बर्निंग का है।

आदमी पार्टी ने दिल्ली को रहने लायक ही नहीं

जेपी दलाल ने अपने निवास पर प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि अरविंद केजरीवाल दिल्ली में होने वाली हर समस्या के लिए केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जिम्मेदार ठहरा देते हैं, जो दुर्भाग्यपूर्ण है। आम आदमी पार्टी ने दिल्ली को रहने लायक ही नहीं छोड़ा है। कार्यालय बंद करना, स्कूल-कॉलेज बंद करना, ऑड -इवन फॉर्मूला लागू करने से लोगों को आवागमन से रोकना, इस प्रकार के समाधान लागू करने वाला नेता दिल्ली को नहीं चाहिए।

हरियाणा पर दोष

उन्होंने कहा कि अरविंद केजरीवाल की प्रवृत्ति तो ऐसी है कि वह यहां तक कह सकते हैं कि लोगों को भ्रम हुआ है दिल्ली में प्रदूषण तो है ही नहीं। जेपी दलाल ने कहा कि अरविंद केजरीवाल पहले पंजाब और हरियाणा दोनों राज्यों के किसानों के बारे में बोलते थे कि वे पराली जलाते हैं, लेकिन अब वे केवल हरियाणा पर दोष लगाते हैं, जो कि बिल्कुल गलत है।

अरविंद केजरीवाल के दावे से सच्चाई बिल्कुल उलट

जेपी दलाल ने कहा कि अरविंद केजरीवाल कहते थे कि जब पंजाब में हमारी सरकार आएगी तो हम 6 महीने में ऐसी रणनीति अपनाएंगे, जिससे पराली जलाने की घटनाएं नहीं होंगी। लेकिन अब 6 महीने के बाद वह 1 साल का और समय मांग रहे हैं। इससे उनकी नीति और नियत दोनों ही पता लगती है।

पंजाब के मुख्यमंत्री ने माना

जेपी दलाल ने पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान पर भी निशाना साधते हुए कहा कि उन्होंने हरियाणा में पराली जलाने की घटनाओं के बारे में जो बयान दिया है, उससे हरियाणा के किसान आक्रोशित हैं। हालांकि, आज पंजाब के मुख्यमंत्री ने कम से कम जिम्मेदारी ली है और यह माना है कि पराली जलाने की घटनाओं पर प्रबंधन नहीं हुआ है और यह कहा है कि अगले साल तक प्रबंधन कर लेंगे।

पराली जलाने की घटनाएं 20 प्रतिशत तक बढ़ी

कृषि मंत्री ने कहा कि पंजाब में पराली जलाने की घटनाएं 20 प्रतिशत तक बढ़ी है, जिससे हरियाणा में भी प्रदूषण बढ़ा है। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी के नेता केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ बयानबाजी करने की बजाये अपने प्रदेश की समस्याओं का स्वयं समाधान करें।

प्रदूषण होने के पराली के अलावा भी अन्य कारण

जेपी दलाल ने कहा कि हरियाणा पंजाब से अलग होकर बना था और इसके बारे में कहा जाता था कि हरियाणा टिक पाएगा या नहीं। लेकिन आज हरियाणा का सकल घरेलू उत्पाद और अर्थव्यवस्था पंजाब से कहीं बेहतर है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में प्रदूषण होने के पराली के अलावा भी अन्य कारण हैं । इसलिए यदि दिल्ली सरकार सार्वजनिक परिवहन प्रणाली को मजबूत करने, इलेक्ट्रिक वाहनों का उपयोग बढ़ाने इत्यादि उपाय करेगी तो दिल्ली में प्रदूषण कम होगा।

हरियाणा में डीएपी की पर्याप्त मात्रा उपलब्ध

जेपी दलाल ने पत्रकारों के सवाल का जवाब देते हुए कहा कि प्रदेश में डीएपी पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है। डीएपी की लगभग तीन लाख की खपत होती है, जिसमें से सवा दो लाख हम किसानों को वितरित कर चुके हैं। दक्षिण हरियाणा में सरसों की बिजाई हो चुकी है और अब गेहूं की बिजाई के लिए डीएपी की आवश्यकता है, वह पूरी मात्रा में उपलब्ध करवाई जाएगी।

धान खरीद में पाई गई गड़बड़ियों के मामले में की गई सख़्त कार्रवाई

कृषि मंत्री ने एक अन्य सवाल के जवाब में कहा कि कई मंडियों में धान खरीद में गड़बड़ियां पाई गई, जिस पर सरकार ने संज्ञान लिया है। मंडियों में धान का रिकॉर्ड चेक किया गया और गड़बड़ी पाए जाने पर सेक्रेटरी को सस्पेंड किया गया तथा एफआईआर भी दर्ज करवाई गई है। इतना ही नहीं, सीएम फ्लाइंग स्क्वॉड ने भी मंडियों में छापे मारे हैं और धान में होने वाली गड़बड़ियों को पकड़ा है।

Continue Reading

Trending

Copyright © 2020 www.industrialbureau.net