Connect with us

Government

बीजेपी ने हमें हमेशा अपमानित किया है, हमारी पार्टी को तोड़ने की कोशिश की है: सीएम नीतीश

Published

on

JDU

Page Media: – बिहार में जेडीयू और भारतीय जनता पार्टी के गठबंधन में दरारें और बढ़ने की चर्चा सियासी गलियारों में चल रही थी। बिहार में जेडीयू और भारतीय जनता पार्टी का गठबंधन टूट चुका है। नीतीश कुमार ने राज्यपाल फागू चौहान को अपना इस्तीफा सौंप दिया है, अब RJD के साथ मिलकर सरकार बनाएंगे।

BJP के साथ गठबंधन तोड़ने के बाद सीएम नीतीश ने कहा की उन्होंने जेडीयू विधायक दल की बैठक में BJP के साथ गठबंधन वाली सरकार के समय को लेकर कहा की बीजेपी ने हमें हमेशा अपमानित किया है, हमारी पार्टी को तोड़ने की कोशिश की है।

महगठबंधन में फिर से वापस

बिहार के राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंपने के बाद नीतीश कुमार ने कहा कि सभी सांसद और विधायक आम सहमति पर हैं कि हमें एनडीए छोड़ देना चाहिए। बिहार में बीजेपी से गठबंधन तोड़ने के फैसले के बाद नीतीश कुमार को बधाई भी मिल रही है। पार्टी नेता उपेंद्र कुशवाहा ने नीतीश कुमार की तारीफ करते हुए कहा कि नए स्वरूप में गठबंधन के लिए बधाई। उन्होंने कहा कि नीतीश जी आगे बढ़िए, देश आपका इंतजार कर रहा है।

विधायाकों की संख्या

एनडीए में अभी बीजेपी के 77, जदयू के 45, हम के 04 और 01 निर्दलीय विधायक हैं, कुल विधायाकों की संख्या 127 है। वहीं अगर सीएम नीतीश कुमार एनडीए से अलग हो जाते हैं तो कुछ इस तरह के समीकरण देखने को मिलेंगे। राजद के 79, जदयू के 45, कांग्रेस के 19, माले के 12, सीपीआई के 02, सीपीएम के 01 और 01 निर्दलीय विधायकों की संख्या होगी जो कुल 159 है, इसमें हम के 4 विधायक जोड़ दें तो यह संख्या 163 हो जाएगी।

Continue Reading

Government

400 से अधिक मंडियों में होगी धान सहित अन्य खरीफ फसलों की खरीद, 55 लाख मीट्रिक टन का लक्ष्य 

Published

on

Procurement of crops at the Minimum Support Price (MSP) announced by the Government of India

Page Media: – हरियाणा में धान की खरीद एक अक्तूबर से शुरू होगी, जो 15 नवंबर, 2022 तक जारी रहेगी। प्रदेश में लगभग 400 से अधिक मण्डियों में खरीफ फसलों की खरीद के लिए पुख्ता प्रबंध किए गए हैं। इस बार सरकार ने 55 लाख मीट्रिक टन धान की खरीद का लक्ष्य रखा है। 

100 रुपये प्रति क्विंटल फीस लगेगी

राज्य सरकार ने फैसला लिया है कि जो धान न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर नहीं खरीदा जाता, जैसे बासमती व डुप्लीकेट बासमती, उस पर 4 प्रतिशत मार्केट फीस की जगह अब सीधा 100 रुपये प्रति क्विंटल फीस लगेगी, जिसमें से 50 रुपये मंडी बोर्ड को जाएंगे और 50 रुपये हरियाणा ग्रामीण विकास फंड में उपकर के रूप में जमा होंगे। इसके अलावा, सरकार ने यह भी निर्णय लिया है कि एमएसपी पर खरीद हेतू जिन क्षेत्रों में धान की अच्छी पैदावार होती है, उन क्षेत्रों में औसत पैदावार 30 क्विंटल प्रति एकड़ व अन्य क्षेत्रों में 28 क्विंटल प्रति एकड़ मानी जाएगी। 

खरीफ फसलों की खरीद भी एक अक्टूबर से

राज्य सरकार की घोषणा अनुसार अन्य खरीफ फसलों की खरीद भी एक अक्टूबर से प्रारंभ होगी। फसलों की सुगम खरीद के लिए समुचित व्यवस्था की गई है। किसानों को अपनी फसल बेचने में किसी प्रकार की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा। विपणन सत्र 2022-23 के दौरान धान, बाजरा, मक्का, मूंग, सूरजमुखी, मूंगफली, तिल, अरहर और उड़द आदि फसलों की खरीद की जाएगी। खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग द्वारा धान की 50 प्रतिशत खरीद की जाएगी। इसके अलावा, हैफेड द्वारा 30 प्रतिशत, हरियाणा राज्य भंडारण निगम द्वारा 15 प्रतिशत तथा भारतीय खाद्य निगम द्वारा 5 प्रतिशत धान की खरीद की जाएगी। 

भारत सरकार द्वारा घोषित न्यूनतम समर्थन मूल्य

खरीफ फसलों की खरीद भारत सरकार द्वारा घोषित न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर की जाएगी। धान (कॉमन) के लिए 2040 रुपये प्रति क्विंटल, धान (ग्रेड-ए) के लिए 2060 रुपये प्रति क्विंटल, बाजरा के लिए 2350 रुपये प्रति क्विंटल, मक्का के लिए 1962 रुपये प्रति क्विंटल, मूंग के लिए 7755 रुपये प्रति क्विंटल, सूरजमुखी के लिए 6400 रुपये प्रति क्विंटल, मूंगफली के लिए 5850 रुपये प्रति क्विंटल, तिल के लिए 7830 रुपये प्रति क्विंटल, अरहर व उड़द के लिए 6600 रुपये प्रति क्विंटल एमएसपी निर्धारित किया गया है। 

400 से अधिक मण्डियों की व्यवस्था 

राज्य सरकार द्वारा खरीफ फसलों की निर्बाध खरीद सुनिश्चित करने के लिए पर्याप्त संख्या में मण्डियों की व्यवस्था की गई है। धान की खरीद के लिए 201 मंडिंया, बाजरा की खरीद के लिए 86, मक्का की खरीद के लिए 19, मूंग की खरीद के लिए 38 मंडियां, सूरजमूखी की खरीद के लिए 9 मंडियां, मूंगफली की खरीद के लिए 7 मंडियां, तिल की खरीद के लिए 27 मंडियां, अरहर की खरीद के लिए 22 मंडियां तथा उड़द की खरीद के लिए 10 मंडियां निर्धारित की गई हैं। 

मंडियों में अनाज की साफ-सफाई के ‌लिए पर्याप्त संख्या में उपकरण उपलब्धह करवाए गए हैं। इसके अलावा, सभी मंडियों में बारदाने की उपलब्धाता भी सुसनिश्चित की गई है, ताकि फसल की बोली के उपरांत बोरियों में भर उसका उठान भी सुनिश्चित हो सके। 

हेल्प डेस्क से होगा किसानों की समस्या का समाधान 

मंडियों में किसानों की मदद के लिए हेल्प डेस्क की सुविधा स्थापित की गई है। इस हेल्प डेस्क पर मार्केटिंग बोर्ड, कृषि व संबंधित विभाग के अधिकारी तैनात होंगे। हेल्प डेस्क पर किसानों की शिकायतों का भी निवारण किया जाएगा। 

Continue Reading

festival

दुर्गा प्रतिमाएं सड़कों पर नहीं, पार्कों और अन्य सुरक्षित स्थानों पर स्थापित की जानी चाहिए: योगी आदित्यनाथ

Published

on

Durga pooja

Page Media: – मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नवरात्रों से पहले रविवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रदेश के सभी जिलों में कानून व्यवस्था की समीक्षा बैठक की। सभी जिलों के प्रशासन और पुलिस अधिकारियों को उत्सव के शांतिपूर्ण संचालन के लिए सभी समुदायों के साथ संवाद स्थापित करने का निर्देश दिया।

बच्चों और वरिष्ठ नागरिकों की सुरक्षा

उन्होंने कहा की अक्सर त्योहारों पर खरीदारी के लिए बाजारों में भीड़ होगी, इसलिए पुलिस पैदल गश्त बढ़ाएं। सार्वजनिक स्थानों पर महिलाओं, बच्चों और वरिष्ठ नागरिकों की सुरक्षा के लिए अतिरिक्त सतर्कता बरतें। जिलों में नियंत्रण कक्ष को विभिन्न स्तरों पर सक्रिय करें। राज्य स्तर पर नियंत्रण कक्ष की निगरानी एडीजी (कानून व्यवस्था) की ओर से की जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रशासन को सभी स्थानों पर सुरक्षा कड़ी करनी होगी। खासकर उन स्थानों पर जहां रामलीलाओं का आयोजन होता है।

दुर्गा प्रतिमाएं सार्वजनिक पार्कों और अन्य सुरक्षित स्थानों पर

दुर्गा प्रतिमा स्थापना को लेकर और यातायात को भी ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री ने निर्देश देते हुए कहा की दुर्गा प्रतिमाएं सड़कों पर नहीं, बल्कि सार्वजनिक पार्कों और अन्य सुरक्षित स्थानों पर स्थापित की जानी चाहिए, ताकि यातायात बाधित न हो। साथ ही उन्होंने यह भी कहा की शराब और गाय तस्करों के खिलाफ भी कार्रवाई करने को कहा है। उन्होंने कहा कि खनन माफिया के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई करें। उनकी संपत्तियों को जब्त कर आगामी 10 दिनों में रिपोर्ट शासन को पेश करें।

44,000 से ज्यादा स्थानों पर दुर्गा मूर्तियां होंगी स्थापित

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राज्य में करीब 44,000 से ज्यादा स्थानों पर दुर्गा मूर्तियां स्थापित होंगी और अधिकारियों को पूजा समितियों से उनकी स्थापना से पहले संवाद करना होगा। उन्होंने कहा कि दशहरे के साथ ही वाल्मीकि जयंती, बारावफात, दीपावली और छठ अगले कुछ सप्ताह में मनाए जाएंगे, जिनको लेकर प्रशासन 24 घंटे सतर्क रहे।

Continue Reading

Development

जलभराव वाले क्षेत्रों से पानी की निकासी के लिए मुस्तैद रहें अधिकारी: मुख्यमंत्री 

Published

on

Instructions to officials to maintain constant vigil in waterlogged areas

Page Media: – मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने प्रदेश में लगातार हो रही बारिश को देखते हुए जिला उपायुक्तों को जलभराव वाले क्षेत्रों से जल्द से जल्द पानी की निकासी करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि संबंधित अधिकारी जलभराव पर लगातार निगरानी बनाएं रखें।

पानी की निकासी के लिए विशेष प्रबंध

जलभराव वाले क्षेत्रों से पानी की निकासी के लिए विशेष प्रबंध किए जाएं। जलभराव की समस्या का तुरंत समाधान किया जाए, ताकि आम जन व किसानों को किसी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े। इसके लिए ज़िलों में आवश्यक मशीनरी जैसे पंप, मोटर एचडीपीई पाईप इत्यादि की व्यवस्था की जाए। 

बारिश जारी रहने की संभावना

उल्लेखनीय है कि प्रदेश में दो दिन से लगातार बारिश हो रही है और मौसम विभाग ने आगामी एक दो दिनों तक बारिश जारी रहने की संभावना जताई है। इसके चलते आबादी क्षेत्रों और खेतों में पानी खड़ा हो सकता है। जिससे आम जनता को परेशानी हो सकती है और किसानों की फसल को नुकसान पहुंच सकता है। ऐसे में मुख्यमंत्री ने जनता की परेशानी को समझते हुए जलभराव वाले क्षेत्रों में अधिकारियों को लगातार निगरानी बनाए रखने के निर्देश दिए हैं। 

Continue Reading

Trending

Copyright © 2020 www.industrialbureau.net