Connect with us

EDUCATION

देश पहले- मैं बाद मे’ छात्रों में यह भाव पैदा करे एनएसएस, सामाजिक सेवा के साथ-साथ राष्ट्र प्रेम के भाव भी पैदा करे- मुख्यमंत्री 

Published

on

Create a sense of patriotism along with social service

Page Media: – मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि राष्ट्रीय सेवा योजना (National service Scheme) छात्रों में सामाजिक सेवा के साथ-साथ राष्ट्र प्रेम के भाव भी पैदा करे। छात्रों को ऐसी शिक्षा दी जाए कि वे खुद से पहले देश को आगे रखें और’देश पहले- मैं बाद मे’ की भावना जागृत हो।

उन्होंने एनएसएस के पदाधिकारियों का आह्वान करते हुए कहा कि एनएसएस को समाज कल्याण से जुड़ी योजनाओं में अपनी भागीदारी निभाते हुए, अपनी भूमिका को और लोकप्रिय बनाना चाहिए। मुख्यमंत्री बुधवार को हरियाणा निवास में हरियाणा राज्य उच्च शिक्षा परिषद द्वारा आयोजित एनएसएस पदाधिकारियों की एक दिवसीय कार्यशाला में बोल रहे थे। 

अंत्योदय के भाव से सेवा

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि हमें अंत्योदय के भाव से सेवा करनी चाहिए। पंक्ति में खड़े अंतिम व्यक्ति जिसे जरुरत है, उसकी सेवा के लिए आगे आना चाहिए। ऐसे लोगों की सेवा निस्वार्थ भाव से करनी चाहिए। यह सेवा का भाव हर व्यक्ति में जगाने की जरुरत है। इस तरह की भावना हमारे समाज को इकट्ठा करके रखती है। आज हरियाणा सरकार अलग-अलग जन कल्याणकारी योजनाएं चला रही है। अधिकतर योजनाओं को परिवार पहचान पत्र (Parivar pehchan patra) से जोड़ दिया गया है। पीपीपी की वैरिफिकेशन के लिए सरकारी अधिकारी, कर्मचारी और स्वयंसेवकों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

आय 1 लाख 80 हजार रुपये से कम

इसके माध्यम से ऐसे परिवारों को चिन्हित किया गया है, जिनकी आय 1 लाख 80 हजार रुपये से कम है। एनएसएस पदाधिकारियों को ऐसी योजनाएं बनानी चाहिए कि एनएसएस स्वयंसेवक इन पात्र परिवारों से जुड़ें और उनकी समस्याओं को सरकार तक पहुंचाएं । जिससे भविष्य में इन पात्र परिवारों की आय बढ़ाने के लिए योजनाएं बनाई जा सकें। मुख्यमंत्री ने कहा कि एनएसएस को सेवा के साथ-साथ लोगों की जीवन शैली कैसे खुशहाल की जाए , इस पर भी कार्य करना चाहिए। 

15 अगस्त के दिन तिरंगामय होगा प्रदेश, त्यौहार जैसा होगा उत्सव 

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि इस बार के स्वतंत्रता दिवस पर “हर घर तिरंगा अभियान” शुरू किया गया है, जो 13 अगस्त से 15 अगस्त तक चलेगा। उन्होंने आह्वान किया कि इस अभियान में एनएसएस के सभी स्वयंसेवक बढ़-चढ़कर हिस्सा लें। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वतंत्रता दिवस के दिन पूरा प्रदेश तिरंगामय होगा। जिस तरह देश में होली और दीपावली का त्यौहार मनाया जाता है, इसी तरह स्वतंत्रता दिवस भी धूमधाम से मनाया जाएगा।     

15 अगस्त 1947 से पहले पैदा हुए लोगों को भेजा जाएगा स्वतंत्रता दिवस में शामिल होने का न्यौता 

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस बार के स्वतंत्रता दिवस पर 15 अगस्त 1947 से पहले पैदा हुए लोगों के घर स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम में शामिल होने का न्यौता भेजा जाएगा। उन्होंने कहा कि इन लोगों की सूची जिला उपायुक्त को भेजी जाएगी और जिला उपायुक्त विशेष तौर पर इन लोगों को स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम में शामिल होने का निमंत्रण भेजेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में इस बार स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रमों की संख्या भी बढ़ाकर 75 की गई है। आजादी का अमृत महोत्सव को समाज का उत्सव बनाया जाएगा। 

नेशनल इंटीग्रेशन कैंप का नाम हो एक भारत श्रेष्ठ भारत 

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने एनएसएस के राज्य स्तर पर आयोजित किए जाने वाले नेशनल इंटीग्रेशन कैंप का नाम एक भारत श्रेष्ठ भारत कैंप करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि इस कैंप में एक-एक राज्य से छात्रों को बुलाया जाए ताकि एक-दूसरे की संस्कृति को जानने का अवसर मिले। मुख्यमंत्री ने एनएसएस में उत्कृष्ठ कार्यों के लिए मिलने वाले अवार्ड के लिए  मूल्यांकन कमेटी बनाने के भी निर्देश दिए। 

बीमारियों के साथ-साथ स्वस्थ कैसे रहें इसके लिए भी फैलाए जागरूकता 

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि एनएसएस, नशा, पर्यावरण, बीमारियों व अन्य सामाजिक विषयों पर जागरूक करने का कार्य करता है। इनके साथ-साथ आज जरुरत यह है कि स्वास्थ्य के लिए भी जागरूकता अभियान चलाना चाहिए। इसे भी एजेंडे में जोड़ना चाहिए ताकि लोग बीमार पड़े ही नहीं। उन्होंने कहा कि सेवा सबसे बड़ा धर्म है, यह भाव हर किसी में पैदा होना चाहिए। 

एनएसएस सिखाता है समाज के प्रति जिम्मेदारीः आनंद मोहन शरण 

हरियाणा उच्च शिक्षा विभाग के एसीएस आनंद मोहन शरण ने कहा कि स्कूल, कॉलेज और यूनिवर्सिटी सभी के छात्रों की समाज के प्रति जिम्मेदारी होती है। एनएसएस द्वारा समय-समय पर इस जिम्मेदारी को निभाया जाता है। एनएसएस हमें सीखाता है कि समाज के प्रति हमारी क्या जिम्मेदारी है। एनएसएस के द्वारा सरकार की जन कल्याणकारी स्कीमों को पात्र तक पहुंचाने का कार्य करना चाहिए, जो समाज के लिए बेहद लाभकारी होगा। 

मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव डॉ. अमित अग्रवाल ने

कहा कि हर घर तिरंगा अभियान में प्रदेशवासी बढ़-चढ़कर हिस्सा लें। इस अभियान में एनएसएस के स्वयंसेवक भी अपनी भागीदारी निभाएं। यह एक महत्वपूर्ण कार्यक्रम है। इस कार्यक्रम के लिए एनएसएस के स्वयंसेवक जागरूकता अभियान चलाएं और 13 अगस्त से 15 अगस्त तक गर्व से हर घर तिरंगा लहराएं। 

अध्यापक और विद्यार्थी का कार्य समाज को दिशा देनाः बृज किशोर कुठियाला 

हरियाणा राज्य उच्च शिक्षा परिषद के अध्यक्ष बृज किशोर कुठियाला ने कहा कि अध्यापक और विद्यार्थी का कार्य समाज को दिशा देने का है। शिक्षक का संवाद उसकी कक्षा के साथ-साथ समाज से भी होता है। एनएसएस द्वारा समय-समय पर समाज को जागरूक करने और सेवा के अनेक कार्य किए जाते हैं। मुख्यमंत्री मनोहर लाल के परामर्श से एनएसएस द्वारा एक नई पहल की जा रही है। जिसके माध्यम से सरकार की कल्याणकारी योजनाओं को पात्र व्यक्ति तक पहुंचाने की कार्य योजना तैयार की जाएगी, जो भविष्य में  समाज के लिए लाभकारी सिद्ध होगी। 

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

EDUCATION

नागरिक सेवा वितरण में सुशासन सहयोगियों की महत्ती भूमिका: डॉ. अमित अग्रवाल

Published

on

Role of Good Governance Associates in Citizen Service Delivery

Page Media: – मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा सार्वजनिक सेवा वितरण में सुधार के लिए जोशीले युवाओं को लीक से हटकर सोच के साथ जोड़ने के लिए शुरू किया गया मुख्यमंत्री सुशासन सहयोगी कार्यक्रम (सीएमजीजीए) नामक अद्वितीय फ्लैगशिप कार्यक्रम लगातार छ: वर्षों से महत्वपूर्ण साबित हो रहा है।

इंडिया हैबिटेट सेंटर

अशोका यूनिवर्सिटी द्वारा हाल ही में इंडिया हैबिटेट सेंटर, नई दिल्ली में आयोजित एक दीक्षांत समारोह में मुख्यमंत्री सुशासन सहयोगी कार्यक्रम (सीएमजीजीए) के छठे बैच को ग्रेजुएट किए जाने के साथ ही अब यह कार्यक्रम अपने सातवें समूह का स्वागत करने की दिशा में आगे बढ़ रहा है, जो मनोहर लाल के सुशासन के विजन को नागरिकों के लिए और अधिक कुशल व सुलभ बनाने की दिशा में कार्य करेगा।

अशोका यूनिवर्सिटी की कुलपति प्रोफेसर मालाबिका सरकार

इस बीच दीक्षांत समारोह में मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव एवं सीएमजीजीए के परियोजना निदेशक डॉ. अमित अग्रवाल, अशोका यूनिवर्सिटी के बोर्ड ऑफ ट्रस्टी के अध्यक्ष आशीष धवन, अशोका यूनिवर्सिटी के सह-संस्थापक विनीत गुप्ता और अशोका यूनिवर्सिटी की कुलपति प्रोफेसर मालाबिका सरकार ने शिरकत की।

इसके अतिरिक्त, सरकारी अधिकारियों में चरखी दादरी के उपायुक्त श्याम लाल पूनिया, झज्जर के उपायुक्त कैप्टन शक्ति सिंह, नूंह के उपायुक्त अजय कुमार सिंह, गुरुग्राम के उपायुक्त निशांत कुमार यादव के साथ मुख्यमंत्री के मुख्य फीडबैक अधिकारी मोहित सोनी भी उपस्थित थे।

अपने अनुभवों को सांझा किया

समारोह के आरंभ में एसोसिएट्स ने सीएमजीजीए कार्यक्रम के साथ कार्य करने के अपने अनुभवों को सांझा किया और इस बारे में बताया कि उन्होंने नागरिक सेवा वितरण सुनिश्चित करने के लिए नीतिगत बदलावों को कैसे शुरू किया। उन्होंने अपने एक साल के अनुभवात्मक शिक्षण कार्यकाल के दौरान उनके पेशेवर और व्यक्तिगत जीवन कौशल को उभारने में अशोका यूनिवर्सिटी की भूमिका पर भी प्रकाश डाला।

मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव एवं सीएमजीजीए के परियोजना निदेशक और सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग के महानिदेशक डॉ. अमित अग्रवाल ने ग्रेजुएटिंग क्लास द्वारा पिछले एक वर्ष में किए गए कार्यों की प्रशंसा की और हरियाणा सरकार तथा अशोका यूनिवर्सिटी के बीच इस संबंध में अद्वितीय सहयोग की सराहना की।

छ: वर्षों में काफी विकसित

कार्यक्रम के बारे में बोलते हुए डॉ. अमित अग्रवाल ने कहा ‘अशोका यूनिवर्सिटी के साथ सीएमजीजीए कार्यक्रम युवा पेशेवरों के लिए शासन का हिस्सा बनने और नागरिकों के जीवन को प्रभावित करने का एक उत्कृष्ट अवसर है। सीएमजीजीए मॉडल पिछले छ: वर्षों में काफी विकसित हुआ है और मुझे यह कहते हुए गर्व हो रहा है कि हमारे कई पूर्व छात्र प्रभावी क्षेत्रों से जुड़े हैं और किसी न किसी तरह से समाज की बेहतरी में योगदान दे रहे हैं।’

एसोसिएट्स ने अपने जिले में चुनौतियों का समाधान करने के लिए कड़ी मेहनत की और हरियाणा सरकार के कई विभागों में उनकी प्रतिभा की बहुत मांग है। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में सीएमजीजीए कार्यक्रम और अधिक विकसित होता रहेगा ताकि युवा अधिक प्रभावी रूप से शासन का अनुभव कर सकें।

उपायुक्तों से प्राप्त प्रशंसा

कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण समारोह में उपस्थित उपायुक्तों से प्राप्त प्रशंसा थी। उन्होंने इन युवा रहनुमाओं के साथ कार्य करने के अपने अनुभवों को साझा किया और बताया कि कैसे वे जिला प्रशासन के मार्गदर्शन में अपने जिले में परियोजनाओं को सुव्यवस्थित करने में कारगर सिद्ध हुए हैं।

अशोका के विजन की बात करते हुए अशोका यूनिवर्सिटी के बोर्ड ऑफ ट्रस्टी के चेयरमैन आशीष धवन ने कहा कि अशोका नेताओं का एक युवा पूल विकसित करने में विश्वास करते हैं और सीएमजीजीए इस प्रभाव को उत्पन्न करने का एक सही अवसर है।

परिणामों और प्रभाव से आकर्षित

आशीष धवन ने कहा कि वे इस कार्यक्रम के परिणामों और प्रभाव से आकर्षित हैं। इन 24 प्रतिभाशाली व्यक्तियों को एक बेहतर कल बनाने के लिए प्रशिक्षित किया गया और उन्हें विश्वास है कि भविष्य में वे किसी भी संगठन के लिए सच्चे युवा रहनुमा सिद्घ होंगे। उन्होंने कहा कि कार्यक्रम की सफलता के लिए मुख्यमंत्री द्वारा किया गया सहयोग और निवेश अद्वितीय है।

अशोका यूनिवर्सिटी के सह-संस्थापक विनीत गुप्ता ने कहा कि सीएमजीजीए कार्यक्रम अपने आप में एक अनूठा मॉडल है। इस कार्यक्रम को हरियाणा सरकार के उच्चतम कार्यालय, सरकारी अधिकारियों, हमारे डोनर्स और इस देश के युवाओं से मिला सहयोग भी बेमिसाल है। उन्होंने कहा कि इस का हिस्सा होने पर उन्हें गर्व है। इस कार्यक्रम ने हर वर्ष हर क्षेत्र पर एक नए स्पष्ट प्रभाव के साथ अपनी एक अलग पहचान बनाई है। उन्होंने दल को उनके उज्ज्वल व सफल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी।

युवा देश का भविष्य

अशोका यूनिवर्सिटी की कुलपति प्रोफेसर मालाबिका सरकार ने कहा ‘युवा देश का भविष्य है और उन्हें ऐसी विधाओं से अवगत करवाया जाना चाहिए, जो परिवर्तनशील हैं और इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि परिवर्तन लाने की प्रक्रिया में उनका शामिल होना समय की आवश्यकता है। युवा सोच नए दृष्टिकोण एवं नवाचार लाती है। इसलिए हमें सीएमजीजीए जैसी और नई अवधारणाओं की आवश्यकता है।’ इस अवसर पर उन्हें प्रशंसा पत्र भी वितरित किए गए।

सीएमजीजीए कार्यक्रम के बारे में

सीएमजीजीए कार्यक्रम राज्य की प्राथमिकताओं पर कार्य करने और सुशासन के लिए युवाओं की ऊर्जा, रचनात्मकता और कौशल का लाभ उठाने के लिए अशोका यूनिवर्सिटी और हरियाणा सरकार के बीच एक रणनीतिक सहयोग है, जो 2016 में शुरू किया गया था। हर वर्ष, 25 चयनित उम्मीदवारों को हरियाणा के 22 जिलों में नियुक्त किया जाता है और वे प्रणाली को सुव्यवस्थित करने और बढ़ी हुई उत्पादकता एवं बेहतर नागरिक वितरण के लिए मौजूदा संरचनाओं को सुधारने के लिए अभिनव समाधान प्रदान करने हेतु सीधे उपायुक्तों एवं जिला प्रशासन के साथ कार्य करते हैं।

Continue Reading

Development

2030 तक नई शिक्षा नीति लागू करने का लक्ष्य, लेकिन हम 2025 तक नई शिक्षा नीति प्रदेश में लागू करेंगे

Published

on

new education policy

Page Media: – नीति आयोग के अधिकारियों के साथ बैठक के बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि देश कैसे आगे बढ़े इसके लिए नीति आयोग (NITI Aayog) समय-समय पर बैठक कर योजना बनाता है। इस बार की बैठक के लिए हमने कृषि, फसल विविधीकरण पर चर्चा की। ज्यादा से ज्यादा प्राकृतिक खेती कैसे बढ़ाई जा सके उस पर चर्चा हुई।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में नीति आयोग की बैठक

7 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) की अध्यक्षता में होने वाली नीति आयोग की बैठक से पहले की तैयारियों के संबंध में मुख्यमंत्री ने हरियाणा भवन दिल्ली में नीति आयोग के अधिकारियों के साथ बैठक की। मुख्य सचिव संजीव कौशल (Chief Secretary Sanjeev Kaushal), मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव वी उमाशंकर, मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव डॉ. अमित कुमार अग्रवाल समेत तमाम प्रशासनिक अधिकारी बैठक में मौजूद रहे।

नई शिक्षा नीति प्रदेश में लागू करेंगे

मुख्यमंत्री ने कहा कि बैठक में पशुपालन, मछली पालन औऱ बागवानी के जरिए किसानों की आय दोगुनी करने पर चर्चा हुई। नई शिक्षा नीति को लेकर भी बैठक में चर्चा की गई। केंद्र ने 2030 तक नई शिक्षा नीति लागू करने का लक्ष्य रखा है लेकिन हम 2025 तक नई शिक्षा नीति प्रदेश में लागू करेंगे।

स्वास्थ्य और शहरी निकाय के मुद्दों पर चर्चा

मनोहर लाल ने कहा कि स्वास्थ्य और शहरी निकाय के मुद्दों पर भी बैठक में चर्चा हुई है। स्वास्थ्य के मामले में हमारा प्रदर्शन राष्ट्रीय औसत से अच्छा है। ईज ऑफ लिविंग के साथ-साथ नागरिकों का जीवन सरल सुगम बने इसके लिए चर्चा की गई। युवाओं को रोजगार के साथ-साथ स्किलिंग बढ़ाना सरकार का लक्ष्य है।

Continue Reading

EDUCATION

केन्द्र सरकार की अग्निपथ योजना के तहत हरियाणा सरकार करेगी कोचिंग का प्रंबध

Published

on

Agneepath scheme

Page Media: – केन्द्र सरकार की अग्निपथ योजना (Agneepath scheme) के तहत थल सेना, नौसेना व वायुसेना में अग्निवीर के रूप में सेवाएं देने वाले युवाओं को हरियाणा सरकार इसकी तैयारियों के लिए कोचिंग का प्रंबध करेगी। विद्यार्थियों से 11वीं के दाखिले के समय विकल्प लिया जाएगा।

कोचिंग का प्रबंध

मुख्यमंत्री व वायु सेना ट्रेनिंग कमांड, मुख्यालय बेंगलुरु के एयर ऑफिसर- कमांडिंग- इन चीफ एयर मार्शल मानवेन्द्र सिंह के साथ हुई बैठक में निर्णय लिया गया कि अग्निपथ योजना (Agneepath scheme) के तहत अग्निवीर के रूप में सेवाएं देने वाले युवाओं को प्रदेश सरकार इसकी तैयारियों के लिए कोचिंग का प्रबंध करेगी।

Continue Reading

Trending

Copyright © 2020 www.industrialbureau.net